Blog

बार बार बिजली बंद से लोग परेशान, बिजली कर्मचारी भीगते पानी में करते हैं काम, हर रोज हो रहा 30 से 40 बार लाइन बंद

चांपा। नगर में बिजली बंद से लोग परेशान हो चुके है और बिजली बंद का असर अब जल आपूर्ति पर पढ़ने लगा है। जिससे लोगों को दोहरी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

बरसात चली गई और सितंबर में भारी बारिश और बिजली चमकने के कारण यहां लगातार फाल्ट आ रहा है, जिससे नगर में बार बार बिजली बंद हो रही है। विधुत विभाग के कर्मचारी लगातार भीगते पानी में लोगों की तकलीफ को देखते हुए फाल्ट बनाते नजर आ रहे है, जिससे लोगों को थोड़ी बहुत राहत तो नजर आ रही है। लेकिन वे भी जो नगर में तार बिछा है या लगा है उससे परेशान है। क्योंकि समान जो लगा है वह इतने घटिया क्वालिटी का है जो की थोड़े ही पानी में शार्ट सर्किट हो जा रहा है। विभाग के लाइनमेन एक जगह बना कर तैयार होते है की नगर की दूसरे जगह से काल आता है की यहां की लाइट बंद है, जिस कारण यहां लोगों को लाइट के बिना बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

नल में नहीं आ रहा पानी

लगातर लाइट के बंद होने से नलों में पानी नहीं आ रहा है, जिससे लोग और परेशान हो गए है। चूंकि जहां फिल्टर प्लांट है, वहां घंटो लाइन बंद रहता है, जिसके कारण पानी नदी से सप्लाई नहीं हो पाती तो टंकी के नहीं भरने से लोगों को पानी तक नसीब नहीं हो रहा है। क्योंकि नदी से फिल्टर प्लांट तक पानी भरने में मोटर को आठ घंटा लगता है, लेकिन यहां लगातार लाइन बंद होने से पानी नहीं भर रहा है। चूंकि बहुत से ऐसे कनेक्शन है, जो टेप नल के भरोसे ही है। वे सभी तालाब में जाकर या बोरिंग चलाकर काम निकाल रहे है।

सबसे ज्यादा हनुमान धारा फीडर में समस्या

नगर में बिजली की समस्या कई सालों से है यहां दो ही सब स्टेशन है, जिसमे हनुमान धारा सब स्टेशन में ज्यादा फाल्ट आता है। थोड़े से पानी या हवा चलने से तुरंत वहां शाट हो जाता है और आधे चांपा की लाइन बंद हो जाती है। चूंकि हनुमाधारा फीडर में आधा चांपा के अलावा कुरदा, महुदा, मड़वा सहित अन्य कई जगह से कनेक्शन गया है। इस कारण हनुमानाधारा फीडर में ज्यादा लोड हो जाता है और लोड होने के कारण लाइट बंद हो जाती है

समस्या का ऐसे हो सकता है समाधान

हनुमानधारा सबस्टेशन से मड़वा तरफ सप्लाई गई है जिसके कारण हर दिन 30-40 बार लाइट बंद हो रही है। हनुमानधारा को चाम्पा डिवीज़न ऑफिस से लाईन जोड़ने पर समस्या नही आएगी। चांपा डिविजन से हनुमान धारा तक फीडर की दूरी 3 किलोमीटर है, जहां से तार खींचकर एक नया कनेक्शन करने पर समस्या नही आएगी।

सब स्टेशन के लिए नही मिली जमीन, पैसा गया वापस

पिछ्ले पांच सालो से यहां
शहर के बीच एक सब स्टेशन के निर्माण के लिए विद्युत विभाग से दो करोड़ आया था। मगर नगर के लोग तथा जनप्रतिनिधि ने नगर पालिका या नजूल की जमीन नही दिला सके।
शहर के बीच में 40 डिसमिल जमीन नही दिला सके, जिसके कारण दो करोड़ वापस चला गया । अगर यह सब स्टेशन बन जाता तो यहां बिजली की समस्या नही रहती

नपा अध्यक्ष ने लोगों के साथ मिलकर दिया ज्ञापन

नगर में बार बार लाइट बंद होने से जहां नगर वासी परेशान हैं। वहीं नगर वासियों सहित नपा अध्यक्ष जय थवाईत चैम्बर ऑफ कामर्स के प्रथम अध्यक्ष प्रकाश अग्रवाल, प्रदेश उपाध्यक्ष सुनिल सोनी ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनिल साधवानी सहित अन्य कई लोगों ने विद्युत ऑफिस जाकर वहां के डीई महानंदा को ज्ञापन देकर इस समस्या के समाधान के लिए ज्ञापन दिया गया। इस पर महानंदा ने कहा कि जल्द मेन लाइन से हनुमानधारा फीडर तक अलग से कनेक्शन करने के लिए प्रपोजल बनाकर विभाग को भेजा जाएगा और जल्द ही इस समस्या का समाधान हो जाएगा।

अधिकारियों ने किया हनुमान धारा फीडर का निरीक्षण

नगर में बिजली बंद से लोग त्रस्त हो चुके है। जहां अधिकारियों की शिकायत विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत तक पहुंची और उन्होने इस समस्या के समाधन के लिए अधिकारियों को जल्द से जल्द समस्या से निजात दिलाने कहा। इस पर
अधीक्षण अभियंता अमर चौधरी , कार्यपालन अभियंता पी. सी महानन्दा , कार्यपलन अभियंता के एन सिंह सा, सहायक अभियंता . पी सिदार साहब द्वारा स्वयं उपस्थित होके सबस्टेशन की समस्या का अवलोकन किया गया एवं आवश्यक कार्य करने हेतु दिशा निर्देश दिया गया।

फ़ोटो स्थल का निरीक्षण करते आधिकारी

बिजली गिरने से इस प्रकार हो जाता है सर्किट भीगते पानी में काम करते कर्मचारी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button